Ustad Rashid Khan, Jab We Met – Aaoge Jab Tum – (आओगे जब तुम)

आओगे जब तुम ओ साजना
अंगना फूल खिलेंगे
बरसेगा सावन झूम झूमके
दो दिल ऐसे मिलेंगे

नैना तेरे कजरारे हैं, नैनों पे हम दिल हारे हैं
अनजाने ही तेरे नैनों ने वादे किए कई सारे हैं
साँसों की ले मद्धम चलें, तोसे कहे
बरसेगा सावन…

चंदा को ताकूँ रातों में, है ज़िन्दगी तेरे हाथों में
पलकों पे झिलमिल तारें हैं, आना भरी बरसातों में
सपनों का जहाँ, होगा खिला खिला
बरसेगा सावन…


Movie/Album: जब वी मेट (2007)
Music By: प्रीतम , संदेश शाडिल्य
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: उस्ताद रशीद खान