Tu Mere Saath Saath – Alka Yagnik, Kumar Sanu, Raju Ban Gaya Gentleman – (तु मेरे साथ साथ)

तू मेरे साथ साथ आसमां से आगे चल
तुझे पुकारता है तेरा आने वाला कल
नई है मंजिलें, नए हैं रास्ते
नया नया सफ़र, है तेरे वास्ते
नई नई है ज़िन्दगी

हुस्न है, शाम है
उठा ले जाम तू ख़ुशी का
वक़्त है, ये तेरा
मना ले जश्न ज़िन्दगी का
ये शाम आज की, तेरे ही नाम है
तेरे नसीब भी, तेरा गुलाम है
क्या हसीन ये मुकाम है
तू मेरे साथ साथ आसमां…

हुस्न से भी हसीं
है ख्वाब मेरी ज़िन्दगी के
इस ख़ुशी से परे
है मोड़ और भी ख़ुशी के
मैं देखता नहीं, कभी इधर-उधर
बस अपनी मंजिलों पे है मेरी नज़र
देख मुझको मेरे हमसफ़र
तू मेरे साथ साथ आसमां…


Movie/Album: राजू बन गया जेंटलमैन (1992)
Music By: जतिन-ललित
Lyrics By: महेंद्र देहलवी
Performed By: अलका याग्निक, कुमार सानू