Suhani Chandni Raatein – Mukesh – (सुहानी चांदनी रातें)

सुहानी चांदनी रातें हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार की बातें हमें सोने नहीं देती

तुम्हारी रेशमी ज़ुल्फ़ों में दिल के फूल खिलते थे
कहीं फूलों के मौसम में कभी हम तुम भी मिलते थे
पुरानी वो मुलाकातें हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार…

कहीं ऐसा ना हो लग जाए दिल में आग पानी से
बदल लें रास्ता अपना घटाएं मेहरबानी से
के यादों की ये बरसातें हमें सोने नहीं देती
तुम्हारे प्यार…


Movie/Album : मुक्ति (1977)
Music By : आर.डी.बर्मन
Lyrics By : आनंद बक्षी
Performed By : मुकेश