Roja Janeman – Hariharan, S.P.Balasubramanium, Sujatha, Roja – (रोजा जानेमन)

रोजा जानेमन, तू दिल की धड़कन (तू ही मेरा दिल)
तुझ बिन तरसे नैना
दिल से ना जाती है यादें तुम्हारी
कैसे तुम बिन जीना
आँखों में तू है, आँसूओं में तू है
आँखें बंद कर लूँ, तो मन में भी तू है
ख्वाबों में तू, साँसों में तू
रोज़ा
रोजा जानेमन…

छू के यूँ चली हवा, जैसे छू गये हो तुम
फूल जो खिले थे वो, शूल बन गये हैं क्यों
जी रहा हूँ इसलिए. दिल में प्यार है तेरा
ज़ुल्म से रहा हूँ क्यों, इंतेज़ार है तेरा
तुमसे मिले बिना जान भी ना जाएगी
कयामत से पहले सामने तू आएगी
कहाँ है तू, कैसी है तू
रोज़ा
रोजा जानेमन…

ठंडी ठंडी है हवा, तेरा काम क्या यहाँ
मीत नहीं पास में, चाँदनी तू लौट जा
फूल क्यों खिले हो तुम, ज़ुल्फ़ नहीं वो यहाँ
झुके झुके आसमां, मेरी हँसी ना उड़ा
प्यार के बिना मेरी, ज़िन्दगी उदास है
कोई नहीं है मेरा, सिर्फ़ तेरी आस है
ख्वाबों में तू, साँसों में तू
रोज़ा
रोजा जानेमन…


Music/Album: रोजा (1992)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: पी.के.मिश्रा
Performed By: हरिहरन, सुजाता, एस.पी.बालासुब्रमनियम