Prem Leela – Vinit Singh, Aman Trikha, Prem Ratan Dhan Payo – (प्रेम लीला)

होने दे आज हल्ला 
देखे गली मोहल्ला 
चाहत के माथे चन्दन का टिका 
है राम-सीता इसमें 
शर्म-ओ-हया की रस्में 
जिनमें मोहब्बतों का तरीका 
सीखेगी छोरी और सीखेगा छबीला 
राम-सिया की देखो निराली 
प्रेम लीला, प्रेम लीला…

लंकापति बावरे, तांका-झांकी क्यों करे
अपने कुटील भाव तू, जानकी से रख परे
ना दे ये करम कर तू, कुछ लाज शरम कर तू
रावण तू कर यहाँ से रवानी
गुस्से में काहे को होता लाल पीला
राम-सिया की ये है निराली 
प्रेम लीला, प्रेम लीला…

जैसे राधा श्याम से, सीता मिलीं राम से 
सबको अपना प्यार यूँ मिल जाए आराम से 
सुन छोटू और पप्पू, राजू, गोपाल, गप्पू 
तुमको भी मिले सपनों की रानी 
मीना हो, रज्जो हो या हो वो शीला 
हे देखो रे देखो रे देखो रे देखो रे
प्रेम लीला, प्रेम लीला…


Movie/Album: प्रेम रतन धन पायो (2015)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: इरशाद क़ामिल
Performed By: विनीत सिंह, अमन त्रिखा