Peechha Chhoote – Mohit Chauhan – (पीछा छूटे)

यहाँ वहाँ गलियों में ढूँढता फिरे है दिल
उलझा है खुद उलझाये मुझको
ये इशारा, वो इशारे करता फिरे है दिल
बहका है खुद, बहकाए मुझको
यूँ ही अनजाने ही कभी मनाये रूठे
यूँ ही बहाने ये कभी बनाये झूठे 
चुरा ले जाए कोई
तो हाय दिल से पीछा छूटे

रामा रामा रामा रे
हाय रामा रामा रे
हो चुरा ले जाए…
रामा रामा…

जाने ना, माने ना
जो बोलूँ समझे ना
सोचूँ मैं सोचूँ फिर भी
बात ये बूझे ना
अपने में रहता है
जहां से नाता टूटे
यूँ ही बहाने…

कच्चे से, पक्के से
इसके इरादे हैं
रेत सी ख्वाहिशें हैं
काँच से वादे हैं
नाम ये ख्वाबों में कई
मिटाए-ढूंढे
यूँ ही बहाने…


Movie/Album: रमैया वस्तावैया (2013)
Music By: सचिन-जिगर
Lyrics By: प्रिया पांचाल, मयूर पुरी
Performed By: मोहित चौहान