KK, Om Shanti Om – Ajab Si – (अजब सी)

आँखों में तेरी
अजब सी अजब सी अदाएं हैं
दिल को बनादे जो पतंग साँसे
ये तेरी वो हवाएं हैं

आई ऐसी रात है जो
बहुत खुशनसीब है
चाहे जिसे दूर से दुनिया
वो मेरे करीब है
कितना कुछ कहना है
फिर भी है दिल में
सवाल कहीं
सपनो में जो रोज कहा है
वो फिर से कहूँ या नहीं

तेरे साथ साथ ऐसा
कोई नूर आया है
चाँद तेरी रौशनी का
हल्का सा एक साया है
तेरी नज़रों ने दिल का किया जो हशर
असर ये हुआ
अब इनमें ही डूब के हो जाऊँ पार
यही है दुआ…


Movie/Album: ॐ शान्ति ॐ (2008)
Music By: विशाल-शेखर
Lyrics By: विशाल ददलानी
Performed By: के.के.