Kahin Aage Lage – Asha, Richa, Aditya, Taal – (कहीं आग लगे)

जाए ना ना ना
पीड़ सहा नहीं जाए

जंगल में बोले कोयल कू कू कू…

कहीं आग लगे लग जावे, कोई नाग डसे डस जावेकभी गगन गिर जावे, चाहे कुछ भी हो जाए
इस टूटे दिल की पीड़ सही ना जाए

आओ सईयाँ आओ सईयाँ…

जाए जां, ना जाए जिया
जाए जिया, ना जाए जिया
हर वक़्त गुज़र जाता है, पर दर्द ठहर जाता है
सब भूल भी जाए कोई, कुछ याद मगर आता है
जिस पेड़ को बेल ये लिपटी, वो सूखे टूटे सिमटी
फूलों के बाग का वादा, पर काटें बड़े ज़ियादा
ना दवा लगे, ना दुआ लगे, ये प्रेम रोग है कु कु कु
कहीं आग लगे…

प्यार बड़ा हरजाई है, पर प्यार बिना तन्हाई है
दिल मत देना कहते हैं, सब दिल देते रहते हैं
जब नींद चुरा लेते हैं, रत जगे मज़ा देते हैं
खुशियाँ किसी के गम से, रौनक किसी के दम से
कोई वचन नहीं चलता है, कोई जतन नहीं चलता है
ना हो ये रोग, तो सारे लोग, ले लेवें जोग, कु कु कु
जंगल में बोले कोयल…


Movie/Album: ताल (1999)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले, ऋचा शर्मा, आदित्य नारायण