Guncha Koi – Mohit Chauhan, Main Meri Patni Aur Woh – (गुंचा कोई)

गुंचा कोई मेरे नाम कर दिया
साकी ने फिर मेरा जाम भर दिया
गुंचा कोई…

तुम जैसा कोई नहीं इस जहान में

सुबह को तेरी ज़ुल्फ़ ने, शाम कर दिया
साकी ने फिर से मेरा…

महफ़िल में, बार बार इधर देखा किये
आँखों की जज़ीरों को मेरे नाम कर दिया
साकी ने फिर से मेरा…

होश बेखबर से हुए उनके बगैर
वो जो हमसे कह न सके, दिल ने कह दिया
साकी ने फिर से मेरा…


Movie/Album: मैं, मेरी पत्नी और वो (2005)
Music By: मोहित चौहान
Lyrics By: रॉकी खन्ना
Performed By: मोहित चौहान