Dekh Lo Aaj Humko – Jagjit Kaur, Bazaar – (देख लो आज हमको)

देख लो आज हमको जी भर के
कोई आता नहीं है फिर मर के

हो गए तुम, अग़र चे सौदाई
दूर पहुँचेगी मेरी रुस्वाई
देख लो आज…

आओ अच्छी तरह से कर लो प्यार
के निकल जाएँ कुछ दिल का बुखार
देख लो आज…

फ़िर हम उठने लगे, बिठा लो तुम
फ़िर बिगड जाएँ हम, मना लो तुम
देखो लो आज…

याद इतनी तुम्हें दिलाते जाएँ
पान कल के लिए लगाते जाएँ
देख लो आज…


Movie/Album: बाज़ार (1982)
Music By: खैय्याम 
Lyrics By: मिर्ज़ा शौक़
Performed By: जगजीत कौर