Daayre – Arijit Singh, Dilwale – (दायरे)

दिलों की मोहब्बत को बाँधे क्यूँ हाय रे
दायरे, दायरे, दायरे, दायरे
है क्यूँ फ़ासले दरमियाँ ले के आये रे
दायरे…

काँच के वो ख़्वाब नाज़ुक थे हमारे सारे
छूने से ही टूटने लगे
मन्नतों में उम्र भर का साथ जिनका माँगा
हमसफ़र वो छूटने लगे
ना मरना मुनासिब जिया भी ना जाए रे
दायरे…


Movie/Album: दिलवाले (2015)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अरिजीत सिंह