Bagon Mein Bahaar Aayi – Anand Bakshi, Lata Mangeshkar, Mom Ki Gudiya – (बागों में बहार आई)

बागों में बहार आई, होठों पे पुकार आई
आजा, आजा, आजा, आजा मेरी रानी
रुत बेक़रार आई
रुत बेकरार आई, डोली में सवार आई
आजा आजा आजा, आजा मेरे राजा
बागों में बहार आई…
फूलों की गली में आई
भँवरों की टोलियाँ, भँवरों की टोलियाँ
दीये से पतंगा खेले, आँख मिचोलियाँ
बोले ऐसी बोलियाँ के प्यार जागा, जग सो गया
रुत बेकरार आई…

सपना तो सपनों की
बात है प्यार में, बात है प्यार में
नींद नहीं आती सैंया, तेरे इंतेज़ार में
हो के बेक़रार तुझे ढूँढूँ मैं, तू कहाँ खो गया
बाग़ों में बहार आई…

लम्बी लम्बी बातें छेड़ें
छोटी सी रात में, छोटी सी रात में
सारी बातें कैसे होंगी, इक मुलाक़ात में
एक ही बात में लो देख लो, सवेरा हो गया
बाग़ों में बहार आई…


Movie/Album: मोम की गुड़िया (1972)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आनंद बक्षी, लता मंगेशकर