ऐ मसाकली मसाकलीउड़ मटक कली मटक कलीज़रा पंख झटक गईधूल अटक और लचक मचक के दूर भटकउड़ डगर-डगर कसबे कुचे नुक्कड़ बस्तीमें ये ये येइतड़ी से मुड़ अदा से उड़कर ले पूरी दिल की तमन्नाहवा से जुड़ अदा से उड़फुर्र फुर्र फुर्र फुर्रतू है हिरा पन्ना रेघर तेरा सलोनीबादल की कॉलोनीदिखला दे …

ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीनाफूलों में कलियों में, सपनों की गलियों मेंतेरे बिना कुछ कहीं नातेरे बिना भी क्या जीनाजाने कैसे अनजाने ही, आन बसा कोई प्यासे मन मेंअपना सब कुछ खो बैठे हैं, पागल मन के पागलपन मेंदिल के अफसाने, मैं जानूँ तू जाने, और ये …

तू मेरी अधूरी प्यास प्यासतू आ गयी मन को रास रासअब तो तू आजा पास पासहै गुजारिशहै हाल तो दिल कातंग तंगतू रंग जा मेरेरंग रंगबस चलना मेरेसंग संगहै गुजारिशकह दे तू हाँ तो जिंदगीझरनों सी छूट के हँसेगीमोती होंगे मोती राहों मेंशीशे के ख्वाब लेकेरातों में चल रहा हूँटकरा …

तू ही तो जन्नत मेरी, तू ही मेरा जूनूनतू ही तो मन्नत मेरी, तू ही रूह का सुकूनतू ही अंखियों की ठंडक, तू ही दिल की है दस्तकऔर कुछ ना जानूं, मैं बस इतना ही जानूंतुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँसजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँकैसी …

हौले हौले से हवा लगती हैहौले हौले से दवा लगती हैहौले हौले से दुआ लगती है नाहौले हौले चंदा बढ़ता हैहौले हौले घूंघट उठता हैहौले हौले से नशा चढ़ता है नातू सबर तो कर मेरे यारज़रा साँस तो ले दिलदारचल फिकरूनू गोली मार यारहै दिन जींदड़ी ते चारहौले हौले ……(प नि …

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आआ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदेंये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आरंजिश ही सही… इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूमऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आरंजिश ही …

मेरी लॉन्ड्री का एक बिलइक आधी पढ़ी नॉवेलएक लड़की का फ़ोन नम्बरमेरे काम का एक पेपरमेरे ताश से हर्ट का किंगमेरा इक चांदी का रिंगपिछले सात दिनों में मैंने खोयाकभी ख़ुद पे हंसा मैंऔरकभी ख़ुद पे रोयाप्रेसेंट मिली एक घड़ीप्यारी थी मुझे बड़ीमेरी जेब का एक पैकेटमेरी डेनिम की जैकेटदो …

सिंदबाद द सेलर एक जहाज़में जब चलामेरे यार सुनलो सुनलोढूँढ रहा था एक नयी दुनिया का पतामेरे यार सुनलो सुनलोवो अनजाने राहों में थावो लहरों की बाहों में थासब ने कहा था इन समन्दरों में जाना नहींमेरे यारों सुनलो सुनलोख़्वाबों के पीछे जा के कुछ भी है पाना नहींमेरे यार …

दिल क्या कहता है मेराक्या मैं बताऊँतुम ये समझोगे शायदमैं पागल हूँदिल करता है टीवी टावर पेमैं चढ़ जाऊंचिल्ला चिल्ला के मैं येसबसे कह दूँरॉक ऑनहै ये वक्त का इशारारॉक ऑनहर लम्हा पुकारारॉक ऑनयूँ ही देखता है क्या तूरॉक ऑनज़िन्दगी मिलेगी ना दोबारादिल करता है सड़कों परज़ोर से गाऊँसब अपने …

आसमां है नीला क्यूँ, पानी गिला गिला क्यूँगोल क्यों है ज़मीनसिल्क में है नरमी क्यूँ, आग में है गर्मी क्यूँदो और दो पाँच क्यों नहींपेड़ हो गए कम क्यों, तीन है ये मौसम क्यूँचाँद दो क्यूँ नहींदुनिया में है ज़ंग क्यूँ, बहता लाल रंग क्यूँसरहदें है क्यूँ हर कहींसोचा है, …